Purushon Me Swapndosh Ki Samasya Or Ayurvedic Upchar

Purushon Me Swapndosh Ki Samasya Or Ayurvedic Upchar

 पुरूषों में स्वप्नदोष की समस्या और आयुर्वेदिक उपचार

स्वप्नदोष क्या है?

स्वप्नदोष एक सामान्य व नेचुरल क्रिया है, ऐसे में अगर कोई पुरूष नींद के दौरान स्खलित हो जाये यानी उसका वीर्यपात हो जाये, तो इसमें घबराने जैसी कोई बात नहीं है। ऐसा होने के पीछे बहुत सी वजह हो सकती हैं। निंद्रा के वक्त वीर्यपात हो जाने को ही स्वप्नदोष कहते हैं। निंद्रावस्था में स्वप्न देखने के बाद होने वाली एक नेचुरल बाॅडी रिएक्ट है Dream Fault। स्वप्नदोष की वजह अनियंत्रित खान-पान या इसी प्रकार के कई और कारण भी हो सकते हैं। स्त्रियों में भी Dream Fault आम बात है। हांलाकि स्त्रियों में Dream Fault के लक्षण व कारण थोड़े अगल होते हैं। यह एक आम बात है।

पुरुषों को होने वाला स्वप्नदोष :

पुरुषों को होने वाला Dream Fault एक नेचुरल प्रक्रिया है, जिसके तहत पुरूष सोते समय स्खलित हो जाता है। Dream Fault के समय पुरुष स्वयं ही संभोग के आनंद का अनुभव भी करते हैं। नींद में स्खलन की समस्या में वीर्यपात होना कुछ लड़कों के लिए, उनका प्रथम अनुभव भी हो सकता है।

एक्सपर्टस का नींद में स्खलन की समस्या के कारणों को लेकर कोई विशेष राय या मत नहीं है। वैसे देखा जाये तो Dream Fault के लिए हस्तमैथुन और उत्तेजक विचारों को जिम्मेवार माना जाता है। कई विशेषज्ञों की राय में हस्तमैथुन की आदत को कम करने से भी Dream Fault से बचा जा सकता है। इस सबके अलावा कुछ घरेलू उपाय भी हैं, जिनसे नाईट फाॅल पर काफी हद तक कंट्रोल पाने की संभावना का दम भरा जाता है। प्राकृतिक उपायों का सामान्यतः पर आपकी बाॅडी पर कोई साइड इफेक्ट नहीं होता और इनका असर भी बेहद प्रभावशाली होता है।

अगर आपको महीने में 2 से 3 बार नींद में स्खलन की समस्या होता है, तो यह एक सामान्य बात है। मगर इससे अधिक बार अगर आपके साथ ये समस्या पेश आती है, तो कुछ रोग होने की संभावना हो सकती है।

नींद में स्खलन की समस्या के लिए शीघ्रपतन भी एक मुख्य वजह हो सकती है।

नाईट फाॅल के शिकार लोगों को सेक्स के समय लिंग शिथिल पड़ जाने की समस्या हो सकती है। वैसे अभी तक इस परेशानी से संबंधित कोई ठोस मालूमात नहीं है। लेकिन, ज्यादातर जानकार इसके पीछे अधिक कामुक विचारों को ही उत्तरदायी मानते हैं।

जब कई दिन तक निरंतर वीर्यपात हो जाए और लिंग को आराम का अवसर प्राप्त न हो, तो नाईट फाॅल हो सकता है।

आप यह आर्टिकल Swapndosh.co.in पर पढ़ रहे हैं..

स्वप्नदोष से सुरक्षा के प्राकृतिक उपाय :

  • नित्य आंवले के मुरब्बे का सेवन करें और उसके बाद गाजर का जूस पियें।
  • पानी के साथ तुलसी की जड़ के टुकड़े को पीस कर पियें, इससे फायदा पहुंचेगा। यदि जड़ प्राप्त न हो पाये, तो 2 चम्मच बीज शाम के समय लें।
  • 10-12 काली तुलसी के पत्ते रात्रि को पानी के साथ लें।
  • लहसुन की दो कली लें और उसे कूट कर निगल जाएं। इसके कुछ समय पश्चात् गाजर का रस पी लें।
  • आधा चम्मच मुलहठी का चूर्ण और एक चम्मच आक की छाल का चूर्ण दूध के साथ सेवन करें।
  • रात के समय त्रिफला चूर्ण को एक लीटर जल में भिगो कर रख दें। सुबह मथकर बारीक कपड़े से छानने के बाद पीने से भी फायदा पहुंचता है
  • 2 चम्मच अदरक रस, 2 चम्मच शहद, 3 चम्मच प्याज रस, 2 चम्मच गाय का घी। इन सबका मिश्रण बनाकर सेवन करने से नींद में स्खलन की समस्या में लाभ तो होगा ही, साथ पौरूष शक्ति में भी बढ़ोत्तरी होती है।

Nightfall Ka Ilaj in Hindi, Nightfall ka desi Ilaj, Nightfall Rokne Ke Upay in Hindi,  Nightfall Treatment in hindi, Nightfall

स्वप्नदोष के अन्य कारण :

Purushon Me Swapndosh Ki Samasya Or Ayurvedic Upchar

कामुक सोच-

कामुक कल्पनाएं व सोच, अश्लील मूवी देखना और हर वक्त लड़की या स्त्री भोग विलासिता के बारे में सोचना भी नींद में स्खलन की समस्या के मुख्य कारण होते हैं। कई बार तो ये भी देखा गया है कि बिना कोई कामेच्छा या कामुक कल्पनाओं के भी नाईट फाॅल हो सकता है।

दूध से निर्मित चीजों का ज्यादा सेवन-

घी-दूध, मेवे-मिठाई का अधिक मात्रा में सेवन या कई बार रात को ज्यादा गर्म दूध पी कर सोने की वजह से भी पुरुषों को नाईट फाॅल हो सकता है। भोजन करने के एकदम बाद सो जाने से भी यह हो सकता है।

पेट में कब्ज और गलत खान-पान-

नाड़ी तन्त्र का कमजोर होना व पेट में कब्ज बने रहना भी नींद में स्खलन की समस्या के होने की वजह बन सकती है। इसके अलावा अधिक मिर्च मसालों का उपयोग, सुस्वादु व गरिष्ठ भोजन और आरामदायक रहन-सहन भी इस समस्या के लिए जिम्मेवार हैं। सोने से पहले जरूरत से ज्यादा खाना खाने से भी नाईट फाॅल की शिकायत हो सकती है।

पार्टनर से दूरी-

अक्सर ऐसा भी देखा गया है कि पत्नी या प्रेमिका से ज्यादा समय तक दूरी बनाये रखने से भी नींद में स्खलन की समस्या की समस्या शुरू हो सकती है। अपने-अपने पार्टनरस के प्रति जबरदस्त खिंचाव या आकर्षण होने पर भी नाईट फाॅल हो जाता है। देरी से विवाह होना भी इसकी एक मुख्य वजह हो सकती है।

मानसिक डर व तनाव-

एकदम से डर जाने के कारण भी शरीर बहुत शिथिल हो जाता है, जिस वजह से बाॅडी के अंग-प्रत्यंगों की कार्यप्रणाली पर दिमाग का नियंत्रण कम हो जाता है। परिणामस्वरूप ऐसे में भी नाईट फाॅल हो सकता है।

स्वप्नदोष का उपचार-

रोजाना आंवले का मुरब्बा सेवन करने के बाद, ऊपर से गाजर का रस पीने से नींद में स्खलन की समस्या से छुटकारा मिलता है। इसके साथ ही तुलसी की जड़ के टुकड़े को अच्छे से पीसकर पानी के साथ पिएं। अगर जड़ नहीं मिले तो इसके 2 चम्मच बीज शाम के समय लें। नित्य नीम की पत्तियां चबाने से भी नाईट फाॅल की परेशानी से मुक्ति मिलती है।

सोते समय अश्लील सहित्य या फिल्में न देखें-

रात्रि को सोने से पूर्व अश्लील फिल्म देखने, कामुक साहित्य पढ़ने से रात्रि को पढ़े व देखे गये कामुक दृष्य दिमाग में स्मरण होते रहते हैं, जो आपकी कामेच्छा को और भी प्रबल कर देती हैं, जिस कारण नाईट फाॅल हो जाता है। अतः यदि आप भी नींद में स्खलन की समस्या से पीड़ित हैं, तो प्रयास करें कि आप इस प्रकार की अश्लील सामग्री से दूर रहें।

रोजाना योग व ध्यान करना-

रोजाना योग और ध्यान लगाने से इच्छा शक्ति मजबूत होती है और आपका मानसिक संतुलन भी सही बना रहता है, इसलिए रोजाना थोड़ा समय ही, मगर योग करें और ध्यान में बैठें। इसके लिए आप किसी अच्छे एक्सपर्ट की सहायता भी ले सकते हैं।

Purushon Me Swapndosh Ki Samasya Or Ayurvedic Upchar

चिकित्सक की राय लें-

अगर बहुत समय पहले से निरंतर नाईट फाॅल हो रहा है और आप काफी कमजोरी महसूस कर रहे हैं, तो इसके लिए आपको अपने चिकित्सक से मिलकर परामर्श करना चाहिए। हो सकता है कि किसी शारीरिक या मानसिक रोग के कारण आपको यह समस्या हो रही हो, इसलिए किसी सेक्सोलॉजिस्ट से मिलकर आपको उन्हें अपनी परेशानी से अवगत करना चाहिए।

सेक्स से जुड़ी अन्य समस्या के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanonline.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *