Swapndosh Hota Hai, To Aajmayen In Gharelu Nuskhon Ko

Swapndosh Hota Hai, To Aajmayen In Gharelu Nuskhon Ko

स्वप्नदोष होता है तो आजमायें इन घरेलू नुस्खों को

स्वप्नदोष-

जब हम नींद में होते हैं और अचानक कोई उत्तेजक व कामुक स्वप्न देखते हुए वीर्यपात हो जाता है, तो उस अवस्था को स्वप्नदोष कहा जाता है। यानी स्वप्नदोष वह अवस्था है, जब हम वास्तविक रूप में तो संभोग नहीं कर रहे होते, किन्तु स्वप्न की प्रबलता के कारण हमें ऐसा महसूस होता है कि हम किसी स्त्री के साथ संभोग का वास्तविक आनंद ले रहे हैं।
ज्यादातर पुरूष सोते समय किसी न किसी स्त्री या लड़की के बारे में ही कामुक कल्पनाए करते रहते हैं या फिर उनके रूप सौंदर्य के बारे में सोचते रहते हैं। जिसका परिणाम यह होता है कि लिंग में उत्तेजना आ जाती है और वीर्य निकल जाता है! स्वप्नदोष की तीव्र और अधिकतम अवस्था में स्वप्नदोष की अधिकता होने पर एक ही रात में व्यक्ति को 3 से 4 बार भी वीर्यपात हो सकता है! दरअसल ये रोग एक मानसिक रोग है और इसके होने के कई कारण हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- सुहागरात

यह आर्टिकल आप swapndosh.co.in पर  पढ़ रहे हैं..

स्वप्नदोष के कारण-

शरीर का अंडकोष में शुक्राणु और वीर्य पैदा करना नियमित कार्य है। इसी क्रम में वीर्य एकत्र होता रहे और उसका स्खलन ना हो, तो शरीर और दिमाग स्वयं इसका उपाय खोज लेते हैं, जिसके कारण कामुक व उत्तेजक स्वप्न होते हैं और वीर्यपात हो जाता है।

स्वप्नदोष होने के अन्य कारण भी हैं। स्वप्नदोष, प्रोस्टेट ग्रंथि कमजोर हो जाने पर भी हो जाता है।

– बहुत ज्यादा मैथुन यानी संभोग करने से भी हमारा दिमाग उत्सुक और सेक्युअल रूप में एक्टिव रहता है और ऐसे विचारों और स्वप्न से लिंग की नसों में कमजोरी होने से स्वपनदोष होने की संभावना बढ़ जाती है।

किसी बीमारी के चलते लंबे समय से दवाई ले रहे हैं और इनके साइड इफेक्ट हों, तो भी नींद में स्खलन की समस्या हो सकती है।

हमेशा सेक्स के बारे में ही सोचना और वक्त बेवक्त अश्लील वीडियो व पोर्न देखना भी एक बहुत बड़ा कारण होता है स्वप्नदोष की समस्या में।

स्वयं की इच्छा से या फिर किसी अन्य कारणों से वीर्य का स्खलन ना होने से भी नींद में स्खलन हो जाता है।

इसे भी पढ़ें- हस्तमैथुन

स्वपनदोष को दूर करने के लिए कुछ घरेलु उपाय-

Swapndosh Hota Hai, To Aajmayen In Gharelu Nuskhon Ko

1. धनिया:
स्वप्नदोष की समस्या में धनिया बहुत राहत पहुंचाता है। इसके लिए धनिया व मिश्री को बराबर मात्रा में लेकर अच्छे से पीस लें। अब इसे पीसे हुए हुए चूर्ण को 5 ग्राम की मात्रा में लेकर ताजा ठंडे पानी के साथ सुबह के समय हर रोज करीबन एक सप्ताह तक इस्तेमाल करने से नींद में स्खलन की समस्या से छुटकारा मिल जाता है। इसके साथ ही पेशाब करने वाली नली में दर्द होना, उपदंश और सुज़ाक आदि रोगों से मुक्ति मिलती है।

2. जामुन:
जामुन की गुठली का पाउडर यानी चूर्ण बनाकर लगभग 4 ग्राम की मात्रा में लेकर शाम के समय करीबन 15 दिनों तक सेवन करें। ऐसा करने से नाईट फाॅल में तो आराम आयेगा ही, साथ ही ज्यादा मात्रा में नाईट फाॅल की वजह से शारीरिक कमजोरी भी दूर हो जायेगी। इस बात का ख्याल रखें कि इस मिश्रण के सेवन करते रहने तक खट्टी चीजों का इस्तेमाल न करें।

3. लहसुन:
लहसुन की एक कली रात को सोते समय चबाते हुए ताजे पानी से निगल जाएं। ऐसा करने के एकदम बाद ही कुछ नहीं खायें। ऐसा नियमित करते रहने से कुछ दिनों में ही नाईट फाॅल की समस्या से छुटकारा मिल जायेगा।

4. जौ:
(हरड़, बहेड़ा व आंवला) और जौ को रात के समय भिगोकर रख दें। इसके बाद अगले दिन सुबह के समय इसमे जरा-सा शहद मिलाकर पी जाएं। इससे नाईट फाॅल छू मंतर हो जाता है।

इसे भी पढ़ें- नामर्दी

5. इमली:
इमली के बीजों को दूध में भिगोकर इमली की निकाली हुई गिरियों में बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर अच्छे से पीसकर मटर के दाने के समान गोलियां बना लें। इसके बाद समान मात्रा में 1-1 गोली कुछ दिनों तक इस्तेमाल करते रहने से नाईट फाॅल
की समस्या में राहत मिलती है। इस मिश्रण का सेवन करते रहने तक तले-भूने तथा अधिक मिर्च-मसालों वाले पदार्थों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

6. गाय का दूध:
3 छुहारे लें और उसे लगभग गाय के आधा किलो दूध में डाल लें। उसके बाद इसमें आवश्यकता के अनुसार मिश्री मिलाकर इसे पूरी तरह अच्छे से पका लें। जब लगे कि दूध केवल आधा रह गया है, तो छुहारे की गुठली निकाल कर छुहारे को खा लें और उस दूध को पी लें। ऐसा नियमित करते रहने से कुछ ही दिनों में नाईट फाॅल दूर हो जाता है।
ध्यान दें- सर्दियों के मौसम में ही इस उपाय को करें। खासकर विद्यार्थियों को ये उपाय बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

7. केले:
पके केले की फली में 3 से 4 बूंदें असली शहद की डालकर, सुबह-सुबह सूर्य के निकलने से पहले खायें। ये उपाय करने से नींद में स्खलन की समस्या से छुटकारा तो मिलेगा ही, साथ ही अनेक वीर्य संबंधी रोग नष्ट हो जाते हैं और वीर्य भी गाढ़ा बन जाता है। विस्तारपूर्वक इस मिश्रण का प्रयोग करना चाहिए।

8. त्रिफला:
त्रिफला के चूर्ण को शहद के मिश्रण के साथ खाने से नाईट फाॅल की समस्या समाप्त हो जाती है।

9. बादाम:
1 पीस बादाम गिरी, थोड़ा-सा मक्खन और 3-3 ग्राम गिलोय, इन सभी को समान मात्रा में मिलाकर इसमें 7-8 ग्राम शहद मिलाकर बराबर भाग बना लें। 8-10 दिनों तक इस मिश्रण को सुबह-शाम इस्तेमाल करने से नाईट फाॅल की समस्या पूरी तरह समाप्त हो जाती है।

10. आंवलाः
6 ग्राम आंवले के चूर्ण में शहद मिलाकर खाने से और इसके बाद ऊपर से इसमें मिश्री मिलाकर पानी पीने से स्वप्नदोष की समस्या में राहत पहुंचती है।

11. इलायची:
आधा ग्राम छोटी इलायची के पीसे हुए दाने, 3 ग्राम सूखे हुए धनिये का चूर्ण और 2 ग्राम कूटी हुई बारीक मिश्री, इन सभी पदार्थों को अच्छी तरह से मिलाकर इसकी समान मात्रा में पुड़िया बना लें। इस मिश्रण को सुबह के समय ताजे पानी के साथ सेवन करते रहें। इसका सेवन करते रहने से नींद में स्खलन की समस्या के रोग में बहुत जल्दी फायदा पहुंचता है।

12. पीपल की छाल:
3 ग्राम पीपल की छाल का पाउडर, आधा ग्राम इलायची का पाउडर और चैथाई ग्राम बंग भस्म। इन चारों का मिश्रण तैयार करके नियमित इस्तेमाल करें। नाईट फाॅल की समस्या नहीं रहेगी।

13. चोबचीनी:
आधा चम्मच मिश्री, आधा चम्मच चोबचीनी का चूर्ण तथा आधा चम्मच देशी घी लेकर, इन सबको अच्छे से मिलाकर सुबह के समय खाली पेट प्रयोग करें।

14. सेमन की छाल:
10 ग्राम सेमन की छाल दूध में पीसकर, उसमे मिश्री मिलाकर, रोजना इस्तेमाल करने से वीर्यदोष, स्वपनदोष, दिमाग की कमजोरी सभी दूर होती हैं।

Swapandosh Hota Hai, To Aajmayen In Gharelu Nuskhon Ko

15. बरगद का दूध:
2 बूँद बरगद के पत्तो का दूध बताशे में मिला कर रेगुलर लेने से नाईट फाॅल और वीर्य संबंधित कई बीमारियों कोे निवारण होता है।

16. नीम के पत्ते:
नींद में स्खलन की समस्या को दूर करने लिए रोजाना 2 पत्ते नीम के अच्छे से खूब चबा-चबा कर खायें।

सेक्स से संबंधित अन्य समस्या के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. http://chetanclinic.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *