Swapndosh Ko Rokne Ke Upay, Savdhaniya Aur Kuch Yogasan

Swapndosh Ko Rokne Ke Upay, Savdhaniya Aur Kuch Yogasan

स्वप्नदोष को रोकने के उपाय, सावधानियाँ और कुछ योगासन

स्वप्नदोष-

स्वप्नदोष एक तरह की मानसिक बीमारी है। बिना इच्छा के वीर्य पात हो जाना या रात को नींद में खुद ही वीर्य स्खलित हो जाना स्वप्नदोष कहलाता है। किशोरों में Dream Fault होना एक नाॅर्मल-सी बात है। महीने में एक-आध बार Dream Fault होना कोई चिंता का विषय नहीं है। लेकिन बार-बार ऐसा होने लगे तो आपको नाईट फाॅल रोकने के उपाय करने चाहिए। बार-बार लगातार स्खलन से शरीर पर उल्टा प्रभाव पड़ता है। साथ ही दिमागी प्रेशर भी बढ़ जाता है।

अमूमन तो नाईट फाॅल की समस्या शादी के बाद खुद ही दूर हो जाती है। लेकिन अगर फिर भी ऐसा नहीं होता है, तो यह एक बीमारी है और इसका इलाज किसी विशेषज्ञ डॉक्टर से करवाना चाहिए।

स्वप्नदोष के हानिकारक प्रभाव :

धीरे-धीरे शरीर कमजोर होने लगता है।

कोई भी काम करें, लेकिन मन नहीं लगता है।

शारीरिक जोश व फुर्ती में कमी आने लगती है और व्यक्ति आलस्य का गुलाम बनकर रह जाता है।

अधिक नाईट फाॅल के कारण संभोग के दौरान लिंग जल्दी शिथिल हो जाता है।

स्वप्नदोष के कारण :

विपरीत लिंग के प्रति आकर्षित होना

सपने में संभोग करना या कामुक दृश्य देखना

रात को काफी लेट भोजन करना

पेट के बल उल्टे सोना

पेट में गर्मी होना

कामुक स्वप्न देखने से लिंग में उत्तेजना आती है और हल्का-सा घर्षण मिलते ही वीर्य स्खलन यानी नाईट फाॅल हो जाता है।

अगर आप चाहते हैं कि बिना किसी दवा का सेवन किए ही आपको नाईट फाॅल से छुटकारा मिल जाये, तो सबसे पहले सेक्स के बारे में सोचना बंद करें और दूसरा पेट साफ रखें। ये दोनों उपाय करने से Dream Fault हमेशा के लिए बंद हो जाता है।

मन व दिमाग को साफ रखने के लिए अच्छे, धार्मिक और सुविचार में व्यस्त रहें, ताकि सेक्स से संबंधित कोई गलत विचार आपके मन में ना आये।

कब्ज के कारण भी नाईट फाॅल होता है, इसलिए पेट का साफ रहना भी बेहद आवश्यक है। कब्ज पेट की गर्मी को बढ़ा देता है, जिसकी वजह से भी वीर्य स्खलित होकर नाईट फाॅल हो जाता है।

स्वप्नदोष की रोकथाम के उपाय:

Swapndosh Ko Rokne Ke Upay, Savdhaniya Aur Kuch Yogasan

नाईट फाॅल से सुरक्षा हेतु शरीर को ठंडा रखने वाली वस्तुएं खानी चाहिए।

रात को सोते समय हल्के और ढीले कपड़े ही पहनें।

लिंग के आस-पास के अनैच्छिक बालों समय-समय पर हटाते रहें।

रात को सोने से पहले दूध न पिएं। इससे पेट की गर्मी बढ़ती है और नाईट फाॅल हो सकता है।

सोने जा रहे हों, तो पहले ठंडे पानी से अपने पैर घुटने तक धो लें।

सोने से 2 या 3 घंटे पहले भोजन कर अवश्य कर लें और रात का भोजन हल्का ही करें।

रात को पीठ के बल सोएं।

नाईट फाॅल से बचने के लिए शारीरिक और मानसिक तौर पर साफ रखें और अच्छा सोचें।

नहाते समय लिंग की अच्छे से साफ-सफाई करें।

हो सके तो सोने पहले महान लोगों से संबंधित कोई पुस्तिका पढ़ें, ताकि अच्छे विचार मन में बने रहें।

रोजाना से सुबह-सुबह योग और प्राणायाम करें।

कब्ज से दूर रहें।

ठंडे पानी से स्नान करें।

रात को खाना खाने के बाद पेशाब जरूर जाएं।

स्वप्नदोष का घरेलू इलाज :

प्रतिदिन लहसुन की दो छिली कलियां पानी के साथ निगल लें।

रोज 2 केले खायें और गुनगुना दूध पिएं।

सूखा धनिया और मिसरी मिलाकर अच्छे से पीस लें और पाउडर बना लें। रोज आधा चम्मच पाउडर सादे पानी के साथ लें। इस उपाय से Dream Fault में जल्दी फायदा पहुंचता है।

अनार के छिलकों को सुखा लें और पीस कर चूरन बना लें। सुबह-सुबह 5-5 ग्राम चूरन, पानी के साथ लेने से लाभदायक मिलेगा।

10 ग्राम सफेद प्याज, अदरक का रस 5 ग्राम, देसी घी 3 ग्राम और शहद 3 ग्राम मिलाकर रात को सोने से पहले खाएं।

यह आर्टिकल आप Swapndosh.co.in पर पढ़ रहे हैं..

आयुर्वेद से स्वप्नदोष का इलाज :

प्रतिदिन आंवले का मुरब्बा खाने से स्वप्नदोष के रोग में राहत मिलती है।

थोडे़ नीम के पत्ते, 3 कालीमिर्च और 4 टुकड़े गिलोय मिलाकर बारीक पीसकर पाउडर बनाएं। इस पाउडर को सुबह खाली पेट पानी के साथ रोजाना सेवन करने पर Dream Fault की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

पालक के पत्तों का सूती कपड़े से छना हुआ रस खाली पेट पीने से 1 हफ्ते में Dream Fault रुक जाता है।

Swapndosh Ko Rokne Ke Upay, Savdhaniya Aur Kuch Yogasan

 स्वप्नदोष का उपचार और योग :

शारीरिक, मानसिक और अध्यात्मिक रूप से स्वस्थ और निरोगी रहने के लिए योग-प्राणायम करना सर्वोत्तम है। योग कई रोगों का उपचार करने के साथ-साथ Dream Fault का भी उपचार कर सकता है। आइए जानते हैं कि कौन से योगासन से Dream Fault में लाभ पहुंच सकता है।

1. विज्रोली क्रियाविधि :

पेशाब करने के दौरान कुछ सैकेण्ड के लिए पेशाब को रोकें और फिर करें। इस क्रिया को 2-3 बार करने से लिंग की नसें मजबूत होती हैं और Dream Fault से छुटकारा मिल जाता है।

2. अश्विनी मुद्रा :

दोनों घुटनों पर शौच करने की स्थिति में बैठ जाएं और अपने गुदा द्वार को अंदर खींचकर कुछ सैकेण्ड बाद छोड़ दें। इस क्रिया को 30 से 40 बार करें और इस आसन को दिन में 2-3 बार करें। Dream Fault के उपाय के साथ-साथ इस आसन से नपुंसकता का इलाज भी होता है।

Swapndosh Ko Rokne Ke Upay, Savdhaniya Aur Kuch Yogasan

स्वप्नदोष में सतर्कता :

यह एक मानसिक विकार है, इसलिए आपको चाहिए मन को साफ रखें।

ठंडे पानी से नहायें।

रात्रि को गर्म दूध ना पीयें।

रात को नींद लेने से पहले अपने पांव घुटनों तक ठंडे पानी से धोयें।

कामेच्छा जगाने वाले साहित्य को न पढ़ें।

 हस्तमैथुन करना ही है, तो सप्ताह में केवल एक बार करें।

सोने से लगभ 2-3 घंटे पहले भोजन कर लें।

प्रयास करें कि जब भी सोयें, पीठ के बल सीधे होकर ही सोयें।

सोने से पहले कोई धार्मिक या पे्ररक भरी अच्छी शालीन पुस्तक पढ़ सकते हैं, जिससे कि जब आप सोयें, तब केवल शुद्ध विचार ही दिमाग में रहें।
नियमित त्रिबंध प्राणायाम, योगासन, ब्रह्ममुहूर्त में उठने से लाभ मिलता है।

कब्ज और एसीडिटी न होने दें।

रात के भोजन के बाद जब सोने की तैयार कर रहे हों, तो पेशाब जरूर जायें।

गुप्तांग की चमड़ी को पीछे हटाकर हर रोज साफ करना चाहिए।

रात को सोने से पहले अंडरवियर खोलकर सोयें और बहुत हल्का या ढीला वस्त्र पहनकर, हाथ पैर धोकर और सीधे कमर के बल सोयें।

सेक्स से संबंधित अन्य समस्या के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. http://chetanclinic.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *