Swapndosh(Nightfall) Par Niyantaran Pane Ke Kargar Upay

Swapndosh(Nightfall) Par Niyantaran Pane Ke Kargar Upay

स्वप्नदोष पर नियंत्रण पाने के कारगर उपाय

स्वप्नदोष होता क्या है?

युवाओं में स्वप्नदोष को लेकर बहुत ज्यादा जिज्ञासा व चिंता का मिला-जुला भाव होता है। नाइट फाॅल यानी स्वप्नदोष को लेकर उनके मन में सबसे पहला प्रश्न यही उठता है कि आखिर स्वप्नदोष होना सही है या गलत?

तो इन्हीं सब बातों के बारे में हम यहां बताने वाले हैं कि स्वप्नदोष किसे कहते हैं, इसके कारण क्या हैं और Dream fault  को रोकने के उपाय क्या हैं?

सबसे पहले यहां बता दें कि Dream fault  न तो कोई रोग है और न ही कोई दोष। यह तो युवाओं में होने वाली एक प्राकृतिक व स्वाभाविक प्रक्रिया है। जिस तरह स्त्रियों को मासिकचक्र होता है, जोकि स्वाभाविक व प्राकृतिक है, ठीक उसी तरह पुरूषों में स्वप्नदोष होना भी एक स्वाभाविक व प्राकृतिक प्रक्रिया है।

Swapndosh Par Niyantran Pane Ke Kargar Upay

रात को सोते समय बिना इच्छा के या फिर काल्पनिक इच्छा के स्वरूप वीर्यपात हो जाने को ही स्वप्दोष कहते हैं और यह एक आम बात है।

दरअसल हमारी बाॅडी में स्पर्म(वीर्य) बनता रहता है और जब यह अधिक मात्रा में बनकर हमारी बाॅडी में एकत्र हो जाता है, तो यह खुद-ब-खुद हमारे शरीर से निष्कासित होने के लिए कोई रास्ता बना लेता है। जैसे नींद में कामुक स्वप्न आने से, कामुक विचार के दौरान नींद में अचानक वीर्य निकल जाता है यानी नाईट फाॅल हो जाता है।

ज्यादातर नाईट फाॅल होने की मुख्य वजह होती है कामुक चिंतन और कामुक स्वप्न। हमेशा मन में गंदे व अश्लील विचारों को रखना, स्त्रियों के यौनांगों के बारे में कल्पना करते रहना, उत्तेजक दृश्य, मूवी व साहित्य पढ़ना ऐसी ही कई मुख्य वजह Dream fault  का कारण होती हैं।

अगर युवाओं में महीने में 1-2 या फिर 3 बार नाईट फाॅल होता है, तो यह आम बात है। मगर रेगुलर तौर पर स्वप्पनदोष हो रहा हो, तो फिर यह एक गंभीर समस्या हो सकती है। यहां पर युवाओं के लिए सबसे जरूरी यह जानना हो जाता है कि आखिर स्पप्नदोष पर नियंत्रण कैसे पायें? इसे रोकने के लिए क्या उपाय करें?

तो चलिए यहां पर हम आपको इस आर्टिकल के जरिए बताते हैं कि नाईट फाॅल की समस्या अधिक हो जाने पर क्या उपाय करें…

आप यह आर्टिकल swapndosh.co.in पर पढ़ रहे हैं..

स्वप्नदोष पर नियंत्रण पाने के उपाय- (Nightfall treatment in hindi)

Swapndosh(Nightfall) Par Niyantaran Pane Ke Kargar Upay

1. गंदे विचारों व अश्लीलता से दूर रहें :
नाईट फाॅल के लिए सबसे मुख्य कारक हैं अश्लील वीडियोज़ देखना, अश्लील साहित्य पढ़ना, पोर्न देखना। जब हम ऐसा कुछ करते हैं तो हमारे दिमाग में बस सेक्स और उत्तेजना ही छायी रहती है। हर पल मन में कामुक विचारों को आना-जाना लगा रहता हैं, जो पुरूष के लिंग को बेहद प्रभावित करते हैं।

कई चिकित्सकों का मानना भी है कि जब हम किसी चीज के बारे में लगातार और अधिक सोचते रहते हैं, तो हम उसी चीज का शिकार हो जाते हैं। ऐसे ही हमेशा कामुक विषयों पर लगातार सोचते रहने से हम नाईट फाॅल के शिकार हो जाते हैं।
नाईट फाॅल होना कोई गलत बात नहीं है। ऐसी स्थिति व्यक्ति के साथ तब पेश आती है, जब उसकी आवश्कताएं पूरी नहीं हो पातीं। विवाह के बाद पुरूषों में यह समस्या नहीं देखी गई है।

2. पेट के सहारे न सोयें :
कई पुरूषों को पेट के बल लेटने की आदत होती है, जोकि नाईट फाॅल की वजह बन जाती है या फिर बन सकती है। दरअसल जब आप पेट के बल या सहारे बिस्तर पर लेटते हो तो इस स्थिति में आपका लिंग दबाव में आ जाता है और घर्षण भी होता रहता है, जिस कारण नींद की स्थिति में ऐसा प्रतीत होता है कि आप किसी स्त्री के साथ यौन आनंद प्राप्त कर रहे हो और फिर आपको नींद में स्खलन हो जाता है।

इसलिए नाईट फाॅल को रोकना है, तो अपनी इस आदत को बदल दीजिए और सीधा यानी पीठ के बल लेटने का प्रयास करें।

3. व्यायाम और योगा करें :
व्यायाम और योगा करने से हमारी शारीरिक ऊर्जा का सही इस्तेमाल होता है, जिससे नाईट फाॅल होने की संभावना भी बहुत कम हो जाती है। सुबह जल्दी उठकर आप अपनी शारीरिक क्षमता के अनुसार व्यायाम व योगा करें, ताकि आपकी शारीरिक ऊर्जा का सही इस्तेमाल हो सके और आपकी बाॅडी भी एकदम फिट और हिट रहे।

4. रात को सोते समय धार्मिक किताब पढें और संगीत सुनें :
जिन लोगों को अधिक Dream fault  की शिकायत है, वे लोग रात को सोने से पहले बिस्तर पर लेटे-लेटे या फिर बैठकर कोई धार्मिक पुस्तक पढ़ें, ताकि मन में कामुक विचार आने के लिए जगह ही न बचे। इससे आपका मन एकदम शांत रहेगा और दिमाग भी शुद्ध विचारों से प्रेरित होकर आरामदायक महसूस करेगा। जिस कारण आपको नींद भी अच्छी आयेगी और नींद में स्खलन भी नहीं होगा।

इसके साथ ही दूसरे उपाय में आप रात को सुकून भरा संगीत यानी गाना सुन सकते हैं। कोई भजन भी सुन सकते हैं, जिनको आप अपना इष्ट मानते हैं। ध्यान रहे जो संगीत या गाना आप सुनें, वो ज्यादा भड़कीला या फिर उत्तेजना प्रदान करने वाला न हो।

यह उपाय आपको अटपटा जरूर लग रहा होगा, मगर ये उपाय नींद में स्खलन को रोकने में बेेहद असरकारी साबित हो सकता है।

Nightfall treatment in hindi

5. लौकी के जूस का सेवन करें :
नींद में स्खलन के शिकार कई व्यक्ति जानना चाहते हैं कि क्या हमारे रोजमर्रा के आहार में शामिल किसी सामग्री में ऐसी क्षमता है, जोकि स्वप्नदोष में आराम पहुंुचा सके।

तो इसका जवाब है ‘हां’। लौकी एक एसा आहार है, जिससे नीदं मे वीर्यपात को रोकने में बहुत मदद मिलती है। मगर लौकी को आपको पका कर नहीं खाना है, बल्कि इसका जूस निकाल कर पीना है।

दरअसल लौकी का जूस हमारे शारीरिक तंत्र(बाॅडी सिस्टम) को शांत व ठंडा रखता है, जिससे नींद में स्खलन होने की संभावना बहुत ही कम हो जाती है।

अगर आप भी नींद में स्खलन की समस्या से जूझ रहे हैं और आपने अभी तक यह उपाय नहीं आजमाया है, तो फिर सोचिए मत और जल्दी से लौकी का जूस पीना आरम्भ कर दें।

6. दूध का सेवन :
स्वप्नदोष के नजरिए से दूध को लेकर चिकित्सकों की अपनी-अपनी राय है। कुछ चिकित्सक कहते हैं कि अगर आप नीदं मे वीर्यपात से बचना चाहते हैं, तो रात को सोने से पहले गरम दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि गरम दूध का सेवन आपके इन्द्रिय को उत्तेजित करता है।

इसके साथ ही कई चिकित्सकों का मानना है कि अगर दूध का मिश्रण बनाकर यानी दूध में कुछ मिक्स करके पिया जाए, तो स्वप्नदोष को काफी हद तक रोका जा सकता है। है न बड़ी दिलचस्प बात!

7. खुद को व्यस्त रखें :
आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में जहां लोगों को अपने लिए फुर्सत ही नहीं है, वहीं अगर नींद में स्खलन की समस्या से बचने के लिए सोचा जाये, तो ये भागदौड़ भरी जिंदगी यानी व्यस्त जिंदगी आपको नींद में स्खलन से दूर रख सकती है।

आप अपने आपको पूरे दिन इतना व्यस्त रखें कि आपको सेक्स या किसी भी अन्य कामुक व उत्तेजक विचारों का ख्याल ही न रहे। यहां तक कि रात को जब आप सोने जा रहे हों, तो भी कुछ न कुछ ऐसा करते रहें जो आपको सेक्सुअल एक्टिविटी से दूर रखे।

8. लिंग की साफ-सफाई :
हस्तमैथुन करने के बाद या फिर नींद में स्खलन के बाद हमेशा अपने लिंग की अच्छे से साफ-सफाई करनी चाहिए, क्योंकि हस्तमैथुन या फिर नींद में स्खलन के बाद लिंग में कुछ टिश्यु रह जाते हैं, जिससे नाईट फाॅल की संभावना बनी रहती है। इसलिए हमारी आपको यही सलाह है कि रोजाना अपने लिंग की अच्छे से साफ-सफाई करें, ताकि नीदं मे वीर्यपात की संभावना ही न रहे।

सेक्स समस्या से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. http://chetanonline.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *